Please download our Online Radio App from Google Play Store. Click Here. close ×
+

एक सपनो का शहर

एक सपनो का शहर मेरे अरमानो का शहर
मंदिर से मस्जिद तक का हरी वादियों का शहर

जान से प्यारा मुझे मेरा दिल है मेरा शहर
कभी गर्मी का मज़ा तो सुहाने मौसम का पहर

तपती धूप में भी हरे भरे पेड़ो का शहर
पानी में चलती छोटी छोटी नाव सा मेरा नगर

राधे का मंदिर और क़ुरान सी मस्जिद का शहर
हर धर्म को मानता वाला सदभावना की लहर

बेहतर शिक्षा से उँचे उड़ते अरमानो का शहर
नये ख्वाबों को नयी आज़ादी देता यहाँ का हर घर

राजघाट का बाँध यहाँ लगता है सबको सुंदर
सबकी प्यास बुझाने वाला अपना ये प्यारा शहर

भारत माता के लाल यहाँ बनते हैं वीर और निडर
देश की रक्षा के लिए नये सपूतों का शहर

जमना की मिठाई, गुजराती नमकीन और जलेबी का चक्कर
बुन्देलखंडी की मिठाश और बधाई का शहर

पहाड़ों से झांकता सूरज और खेल के मैदानों का शहर
मेरा प्यारा सागर मेरा अपना और सबका शहर

Ashish Vishwakarma
Share : facebooktwittergoogle plus
pinterest



2 Responses

Leave us a comment


  • ankit vishwakarma on

    sir kya baat hai nice group


  • ankit vishwakarma on

    very nice


Leave a Reply