Please download our Online Radio App from Google Play Store. Click Here. close ×
+

सपने ना तेरे है ना मेरे हैं

सपने ना तेरे है ना मेरे है
ना मेरा इन से वास्ता है ना तेरे इन से लेना

फिर भी आँखो में बसते है
ये ना तेरे है या ना मेरे है

ना जाने क्या चाहते है यह
रात भर जाग कर क्यू रुलाते है
कभी खुली आँखो से भी हसते है
यह सपने है जो ना मेरे है और ना तेरे है

कभी जिलमिल से तारे है
तो कभी प्यारी सी बाते है
कभी पुरानी सी किताब है
कभी आपनो का प्यार है

पर यह जो सपने है वो ना मेरे है ना तेरे हैं
एक सपना ज़रूर है जिस में तू आपना ज़रूर है
पास मेरे है दिल के करीब ज़रूर है
पर ज़रूरी तो न है की हर सपना पूरा हो
क्यूकी यह जो सपने है ना वो तेरे है ना वो मेरे है

Share : facebooktwittergoogle plus
pinterest

बस यही है मेरा सपना

पर्वतो से ऊचा ओहदा हो अपना

समुद्र से निर्मल हो दिल ये अपना

दुनिया में मुझे हर कोई कहे अपना

दुखो की आग में न मुझे पड़े तपना

झूठ के सामने न कभी पड़े झुकना

कितना भी चलना पड़े जीवन में न रुकना

कठिन रास्तों पर भी कभी नही थकना

बस यही है मेरा सपना …
बस यही है मेरा सपना….

Share : facebooktwittergoogle plus
pinterest

सबके सपने पूरे होते है

एक छोटा नन्हा सा बच्चा
माँ – पा की आँखों का तारा

ना कुछ जाने ना कुछ समझे
बस देखे उनकी आँखों मैं
अपने भविष्य का प्यारा सपना।।

हाथ और ना आँखे उसकी
था असमर्थ पूरा करने में ।
सब कहते थे क्या करेगा
यूँ तो धरती का बोझ रहेगा।।

डूबा जब किताबो की दुनियां में
ढूंढ लिया उसने अपना रास्ता ।
बनाया एक नया लक्ष्य अपने सपनो को पूरा करने का।।

मेहनत और लगन से उसने
अपने सपनो को साकार किया।।
दिखा दिया उसने दुनिया को
सबके सपने साकार होते है ।।
सबके सपने पूरे होते है ।।

Share : facebooktwittergoogle plus
pinterest

तारो की चाँदनी रात

तारो की चाँदनी रात मे देखा एक सपना था,
उस ख्वाब मे मिला मुझे कोई अपना था

लगा की गुजर जाएगी ज़िंदगी उनकी मासूमियत के साथ,
खुली जब आँख तो वही सपना बिखरा मेरा था.

टूटा सपना तो उन्हे भूल ना पाए हम,
शायद मेरे दिल को उसे याद रखना था.

अपनी हर दुआ मे माँगा मैने रब से
क्योकि बिन उसके जी पाना मुस्किल था.

हम तो “यादो के मुसाफिर” है, उनकी यादों के सहारे जी लेते
फिर भी उनको पाना सयद जिंदगी का मकसद था.

तारो की उस रात मे देखा मैने एक सपना था,
जिसमे मिला मुझे कोई अपना था.

Share : facebooktwittergoogle plus
pinterest

सपनो मे है एक सपना

सपनो मे है एक सपना
है कोई जो सिर्फ़ मेरा अपना

जबसे देखा तबसे पाया
सपना वो है मेरा ही साया

दिल की धड़कन मन के रंग
मेरे अपने मेरे सपने मेरे संग

कभी ना ये अपना साथ छूटे
ना कभी मेरा ये ख्वाब टूटे

साकार सभी के सपने हो जाएँ
जो चाहा वो हक़ीक़त बन जाएँ

दिल की दुआओं मे सबके सपने
सबके साथ रहें सबके अपने

Share : facebooktwittergoogle plus
pinterest

एक सपना देखा

रात मैने एक सपना देखा
उसमे कोई एक अपना देखा

प्यार से मुझको सहलाता था
खिले फूल सा मुस्काता था

उसकी खुशबू दिल के अंदर
लगता मुझको खुद से बढ़कर

ऐसा ही एक सपना देखा
ऐसा ही एक अपना देखा

रात मैने एक सपना देखा
उसमे कोई एक अपना देखा

जब वो मन को छूता था
दिल मे कुछ कुछ होता था

लगता था कोई अपना है वो
आँख खुली तो सपना था वो

ऐसा ही एक सपना देखा
ऐसा ही एक अपना देखा
रात मैने एक सपना देखा

Share : facebooktwittergoogle plus
pinterest