मेरे सारे सपने सच हो जाते

मोहब्बत, इबादत और इश्क़ एक भीनी खुशबू की तरह है ।
जिन्हें कभी दुनिया की सारी दौलत मिलाकर भी नहीं ख़रीदा जा सकता ।।
बस उसे पाया जा सकता है एक सुन्दर धड़कते दिल के द्वारा ।
और दूर बैठे हँसते खेलते साहिल के द्वारा ।।

दौलत से खरीदता मैं खुशियाँ और इन्हें डाल देता सबकी झोली में ।
खुश देख इंसानो को दिख जाता भगवान मुझे इस खोली में ।।

सारे सपने मेरे सच हो जाते अगर हो जाते हम उनसे दरमियाँ ।
और फिर हम होते इस दुनियां के सातवे आसमान पर ।।

 

Anurag Jain
He is always in a joyful mood. He has some big dreams and quite passionate towards his career. Enjoy new heights with his words.
Share : facebooktwittergoogle plus
pinterest



No Response

Leave us a comment


No comment posted yet.

Leave a Reply